25.3 C
India
Friday, April 26, 2019
  • Home
  • About Organisation

About Organisation

sewakre

स्वस्थ भारत (ट्रस्ट)

परिचय:-

स्वस्थ भारत एक न्यास (ट्रस्ट) के रूप में पंजीकृत संस्था है। इसका मुख्य उद्देश्य है देश में स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर जागरूकता लाना। इसके लिए ट्रस्ट विभिन्न तरह गतिविधियों के माध्यम से जनसमान्य के बीच पहुंचने का प्रयास कर रहा है और मुख्यतः संचार के माध्यम से इन विषयों की समझ आम नागरिकों में विकसित करने की कोशिश कर रहा है।

हमारा लक्ष्य

किसी भी राज्य के विकास को समझने के लिए नागरिक-स्वास्थ्य को समझना आवश्यक होता है। नागरिकों का बेहतर स्वास्थ्य राष्ट्र की प्रगति को तीव्रता प्रदान करता है। दुनिया के तमाम विकसित देश अपने नागरिकों के स्वास्थ्य को लेकर हमेशा से चिंतनशील व बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने हेतु प्रयत्नशील रहे हैं लेकिन दुर्भाग्य से हिन्दुस्तान में स्वास्थ्य चिंतन न तो सरकारी प्राथमिकता में है और न ही नागरिकों की दिनचर्या में। हिन्दुस्तान में स्वास्थ्य के प्रति नागरिक तो बेपरवाह है ही, हमारी सरकारों के पास भी कोई नियोजित ढांचागत व्यवस्था नहीं है जो देश के प्रत्येक नागरिक के स्वास्थ्य का ख्याल रख सके।

दरअसल आज हमारे देश की स्वास्थ्य नीति का ताना-बाना बीमारों को ठीक करने के इर्द-गीर्द घूम रही है। जबकि नीति निर्धारण बीमारी को खत्म करने पर केन्द्रित होने चाहिए। एक पोलियो से मुक्ति पाकर हम फूले नहीं समा रहे हैं, जबकि इस बीच कई नई बीमारियां देश को अपने गिरफ्त में जकड़ चुकी हैं।

महंगाई के इस दौर में लोगों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं पर खर्च कर पाना बहुत मुश्किल हो रहा है। ऐसे में बीमारी से जो मार पड़ रही है, वह तो है ही साथ में आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है। इन सभी समस्याओं पर ध्यान देने पर यह स्पष्ट हो जाता है कि स्वास्थ्य की समस्या राष्ट्र के विकास में बहुत बड़ी बाधक है। ऐसे में देश के प्रत्येक नागरिक को स्वस्थ रखने के लिए सरकारी नीति बननी चाहिए न कि बीमार को स्वस्थ करने के लिए। ऐसे उपाय पर ध्यान दिया जाना चाहिए जिससे कोई बीमार ही न हो। इस परिप्रेक्ष्य में स्वास्थ्य नीति बनाते समय सरकार को कुछ खास बिन्दुओं पर ध्यान जरूर देना चाहिए।

आदर्श स्वास्थ्य व्यवस्था लागू करने के लिए सरकार को निम्न सुझाओं पर गंभीरता-पूर्वक अमल करने की जरूरत है। प्रत्येक गाँव में सार्वजनिक शौचालय, खेलने योग्य प्लेग्राउंड, प्रत्येक स्कूल में योगा शिक्षक के साथ-साथ स्वास्थ्य शिक्षक की बहाली हो। प्रत्येक गाँव में सरकारी डॉक्टरों की एक टीम हो जिनके ऊपर प्राथमिक उपचार की जिम्मेदारी रहे। प्रत्येक गाँव में सरकारी दवा की दुकान, वाटर फिल्टरिंग प्लांट जिससे पेय योग्य शुद्ध जल की व्यवस्था हो सके, सभी कच्ची पक्की सड़कों के बगल में पीपल व नीम के पेड़ लगाने की व्यवस्था के साथ-साथ हर घर-आंगन में तुलसी का पौधा लगाने हेतु नागरिकों को जागरूक करने के लिए कैंपेन किए जाए।

उपरोक्त बातों का सार यह है कि स्वास्थ्य के नाम किसी भी स्थिति में नागरिकों पर आर्थिक दबाव नही आना चाहिए। और इसके लिए यह जरूरी है कि देश में पूर्णरूपेण कैशलेस स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जाए।  यदि उपरोक्त ढ़ाचागत व्यवस्था को हम नियोजित तरीके से लागू करने में सफल रहे तो निश्चित ही हम ‘स्वस्थ भारत’ का सपना बहुत जल्द पूर्ण होते हुए देख पायेंगे।

 

लक्ष्य को प्राप्त  करने  के लिए हमारी गतिविधियां

स्वस्थ भारत मुख्यतः स्वास्थ्य विषयों पर एडवोकेसी के लिए काम करता है। इसके लिए जनसंचार और व्यक्तिशः संचार दोनों ही रूपों में काम कर जन सामान्य को जागरूक करने के अलावा स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े विभिन्न हितधारकों के बीच इस विषय पर विमर्श तथा स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में यथासंभव अंशदान का प्रयास भी करता है।

Note: इस यात्रा में आप मित्रो का सहयोग बहुत जरूरी है। इस यात्रा में आपकी सहभागिता तन, मन और धन तीनों से हो ऐसी हमारी अपेक्षा है। इस यात्रा में सहयोग हेतु हमने #एकरुपये एक_कदम कैम्पेन की शुरुवात की है। आप खुद भी जुड़े और अपने मित्रो को भी जोड़ें |